Arnab Goswami को सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी है | Big News In 2020

Trending Topic

Arnab Goswami को सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी है | Big News In 2020

Arnab Goswami और दो व्यक्तियों को अंतरिम जमानत मिल गई है यह सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार मिली है खुद किसी के लिए उकसाया जाने वाले आरोप के मामले में Arnab Goswami सहित दो आरोपियों को भी अंतरिम जमानत मिली है |

 

Arnab Goswami को सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी है | Big News In 2020
Arnab Goswami को सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी है | Big News In 2020

नई दिल्ली-  सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को रिपब्लिक टीवी के editor-in-chief Arnab Goswami ने याचिका दी थी और सुप्रीम कोर्ट ने अर्णब गोस्वामी की याचिका पर सुनवाई के बाद अर्णव को अंतरिम जमानत दे दी है अर्नब गोस्वामी और दो व्यक्तियों पर खुदकुशी के लिए उकसाये जाने का आरोप लगाया था

सुप्रीम कोर्ट ने Arnab Goswami और दो आरोपियों को तुरंत रिहा करने के लिए जेल प्रशासन और कमिश्नर को आदेश दिया और बोला इस आदेश में बिल्कुल देरी नहीं होना चाहिए नई जानकारी के अनुसार बंबई हाईकोर्ट ने अर्णब गोस्वामी को जमानत देने से इनकार कर दिया था इसलिए अर्नब गोस्वामी की टीम ने सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका दायर की .अर्णब गोस्वामी की जिस टीम ने याचिका दायर की सुप्रीम कोर्ट में याचिका  की तुरंत सुनवाई हो गई अर्नब गोस्वामी के मामले की सुनवाई जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस इंदिरा बनर्जी की बेंच ने की, अर्नब गोस्वामी की सुनवाई के दौरान जस्टिस चंद्रचूड़ ने बहुत ही कड़क शब्द बोले उनके द्वारा कहा गया- अगर कोर्ट इस केस में दखल नहीं देता तो वह बर्बादी के रास्ते पर आगे बढ़ेगा कोर्ट ने कहा कि- आप विचारधारा में भिन्न हो सकते हैं लेकिन संवैधानिक अदालतों को इस तरह की स्वतंत्रता की रक्षा करनी होगी वरना तब हम विनाश के रास्ते पर चल रहे हैं. जस्टिस चंद्रचूड़ ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट के लिए यह बेहतर है कि वह मामले के कानूनी पहलुओं पर ध्यान ना दें क्योंकि यह मुद्दा वहां लंबित है और अंतरिम राहत के बिंदु तक सीमित रहेगा. अग्रिम जमानत के मामलों में भी. अदालतें गिरफ्तारी नहीं करने के लिए अंतरिम आदेश पारित करती है.

 अर्नब गोस्वामी में जो वकील है उनके द्वारा भी थोड़े कड़क शब्द बोले गए हैं अर्नव गोस्वामी के पक्ष में वकील ने कहा- क्या अर्नब गोस्वामी कोई आतंकवादी थे जो कि उन्हें इस तरीके से अरेस्ट किया गया , क्या उन्होंने किसी का मर्डर किया था  जो इस तरीके से उन्हें अरेस्ट किया गया क्या  उनका इतना बड़ा आरोप है कि उन्हें जमानत नहीं दी जा सकती

 सुप्रीम कोर्ट के द्वारा कई तरीके से फैसले सुनाए गए सुप्रीम कोर्ट ने अपने बहुत सारे कड़क शब्दों के द्वारा कई बयान दिए

  सुप्रीम कोर्ट ने कहा-

 एक ने आत्महत्या की है दूसरे के मौत का कारण अज्ञात है एक को पैसा दूसरे को देना है तो और भी आत्महत्या कर लेता है उकसाया हुआ क्या किसी को इसके लिए जमानत से वंचित करना न्याय का मखौल नहीं होगा

 जिस व्यक्ति ने आत्महत्या की इस मामले में , अर्नब गोस्वामी पर आरोप है कि मृतक के कुल 6.45 करोड़ बकाया थे और अर्नव गोस्वामी को मात्र 88 लाख का भुगतान करना था.FIR  का कहना है  की जिस व्यक्ति ने सुसाइड किया वह मानसिक तड़पन और मानसिक तनाव से बहुत पीड़ित था उसकी पहले से तबीयत सही नहीं थी क्या उसे 306 के लिए वास्तविक उकसावे की जरूरत है |

Important News-

Arnab Goswami और दो व्यक्तियों को अंतरिम जमानत मिल गई है यह सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार मिली है खुद किसी के लिए उकसाया जाने वाले आरोप के मामले में Arnab Goswami सहित दो आरोपियों को भी अंतरिम जमानत मिली है |

Other Big News-

Vj Chitra Death Case : कमरे में मिली 28 साल की अभिनेत्री की बॉडी , साउथ इंडस्ट्री में शोक की लहर

Youtube- Kalyug Time