Farmer Protest Top-10 Big News:- किसान और सरकार के बीच आज बनेगी बात आज फिर होने जा रही है किसान और सरकार के बीच बैठक

Farmer Protest Top-10 Big News:- किसान और सरकार के बीच आज बनेगी बात आज फिर होने जा रही है किसान और सरकार के बीच बैठक

Farmer Protest Top-10 Big News:- किसान और सरकार के बीच आज बनेगी बात आज फिर होने जा रही है किसान और सरकार के बीच बैठक
Farmer Protest Top-10 Big News:- किसान और सरकार के बीच आज बनेगी बात आज फिर होने जा रही है किसान और सरकार के बीच बैठक

केंद्र सरकार और किसानों के बीच लगातार यह आंदोलन चल रहा है जिसमें किसान अपनी बात पर अड़े हुए हैं कि जो किसी कानून बनाए गए हैं उन्हें वापस लिया जाए और लगातार किशन अपना आंदोलन  ( Farmer Protest ) कर रहे हैं |

किसानों का आंदोलन आज भी लगातार जारी है और किसान और सरकार के बीच आज फिर बैठक होने जा रही है और जानकारी के अनुसार यह पता चला है कि आज शायद किसान और सरकार के बीच समझौता हो जाए शायद जो भी समस्याएं हैं उन सभी समस्याओं का समाधान मिल जाए आज की बैठक में जानिए किसान और सरकार के बीच 10 सबसे बड़ी खबरें :-

यह आंदोलन  किसान के लिए बनाए गए कृषि कानून (Farm Laws)  को वापस लेने के लिए किसान लगातार अपना आंदोलन  (Farmer Protest) चला रहे हैं |

किसान और सरकार के बीच आज फिर एक बैठक होने जा रही है जिस बैठक के अनुसार यह पता चला है कि शायद आज की इस बैठक से किसी प्रकार का समाधान निकल आए ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या आज की बैठक में किसान संगठनों और केंद्र किसी ठोस समाधान पर पहुंचेंगे बताया जा रहा है इस बैठक के दौरान कृषि के जो नए कानून है उन्हें वापस लेने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को स्वरूप देने पर चर्चा होगी |

सभी लोग यह अच्छी तरीका से जानते हैं कि इस वक्त कैसा माहौल है ऐसी सर्दी के समय और बारिश भी हो रही है फिर भी किसान अपनी मांगों को लेकर लगातार 40 दिन से अपना आंदोलन चला रहे हैं और दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए बैठे हैं और उनका एक ही कहना है कि सरकार जब तक हमारी मांगों को पूरा नहीं करेगी तब तक हम यहां आंदोलन बंद नहीं करेंगे |

किसानों की सबसे बड़ी जानकारी यह निकल कर आ रही है कि किसानों के द्वारा यह कहा गया है कि अगर आज की बैठक में किसान और सरकार के बीच समाधान नहीं होता है तो हमारा यह आंदोलन और भी तेजी के साथ चलेगा तो जानते हैं किसानों के बारे में 10 ऐसी पड़ी न्यूज़ :-

 

  •  किसान और सरकार के बीच छठे दौर की बैठक हुई थी जिसमें कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से एक प्रश्न किया गया कि क्या 4 जनवरी को किसान और सरकार के बीच जो बैठक होगी उसमें किसी भी प्रकार का कोई समाधान निकल सकता है तो कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के द्वारा यह कहा गया कि मैं ऐसा पक्के तौर पर नहीं कह सकता कि मैं कोई ज्योतिषी नहीं हूं लेकिन इतना कहना चाहता हूं कि जो भी निर्णय लिया जाएगा वह किसानों के हित में लिया जाएगा

 

  •  पांचवी बार की जो बैठक हुई थी वह 30 दिसंबर को छठे दौर की बैठक किसान और सरकार के बीच बिजली की दरों में वृद्धि और पराली जलाने पर जुर्माने पर प्रदर्शनकारी किसानों की चिंताओं के समाधान पर बात बनी थी लेकिन किसानों के द्वारा जो 3 कानूनों को वापस लेने के लिए आंदोलन चल रहा है उस पर पता चला है कि 4 जनवरी को बातचीत होगी |
  •  किसान और सरकार के बीच लगातार यह बात सामने आ रही है कि किसान यही चाहते हैं कि जल्द से जल्द यहां कृषि कानून वापस लिए जाएं ताकि हम यह आंदोलन बंद कर सकें लेकिन वही सरकार यह चाहती है कि जो भी ले लिया जाए वह किसान हित में होना चाहिए

 

  •  किसानों के द्वारा यह कहा गया है कि चाहे हमारे ऊपर किसी ने भी ठंड आए या बारिश हो फिर भी हम ऐसी चीजों से किसी भी तरह से डरने वाले नहीं है हम आंदोलन जारी रखेंगे और यह तब तक आंदोलन चलता रहेगा जब तक कि यहां तीन कृषि कानून वापस नहीं लिए जाते |

 

  •  किसान लगातार आंदोलन सिंघु बॉर्डर की तरह टिकरी बॉर्डर चिल्ला बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर किसान सड़कों पर लगभग 40 दिनों से डटे हुए हैं और पता चला है कि टिकरी बॉर्डर पर ऐसी सर्दी के मौसम के कारण 2 किसानों की मौत भी हो चुकी है ऐसी खबर आ चुकी है लेकिन ऐसी सर्दी से बचने के लिए किसान आग जलाकर अपने हाथ  गर्म करते हुए नजर आते हैं और  बारिश से बचने के लिए वाटर प्रूफ पेंट भी लगाए गए हैं |

 

  •  किसानों के द्वारा बहुत बड़ी बात यह कही गई है कि और यह बात सिंघु बॉर्डर पर कुछ किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं उन नेताओं के द्वारा यह कहा गया है कि वे 3 जनवरी को नए कानूनों की प्रतियां जलाकर लोहड़ी का त्यौहार मनाएंगे
  • और उन्होंने यह भी कहा कि सुभाष चंद्र बोस की जयंती के मौके पर 23 जनवरी को आजाद हिंद किसान दिवस के रूप में भी मनाएंगे तो सोच कर देखिए किसानों ने आंदोलन कितने आगे बढ़ाने का सूट के रखा है लेकिन आज की बैठक के दौरान शाहिद के कोई समाधान निकल कर आए |

 

  •  किसानों ने यह भी कहा कि अगर सरकार ने हमारी बात नहीं मानी तो हम गणतंत्र दिवस (Republic Day)  के दिन ट्रैक्टर रैली आयोजित करने के बारे में बताया है और उन्होंने यह भी कहा कि 23 जनवरी यानी कि सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर हमारा यह आंदोलन लगातार चलता रहेगा |

 

  • सोनिया गांधी जो कि कांग्रेस अध्यक्ष हैं उनके द्वारा रविवार को सबसे बड़ी बात कहने को मिली कि देश की आजादी के बाद से ही पहली बार ऐसी हंकारी सरकार सत्ता में आई है जिसे अन्य दाताओं की पीड़ा दिखाई नहीं दे रही है. और साथ में ही उन्होंने यह भी कहा कि जल्द से जल्द किसानों की मांगें पूरी की जाए |

 

  •  किसान ऐसी परिस्थितियों में भी दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं ऐसी बारिश और ऐसी सर्दी के मौसम में कितना कठिन होगा कि किसान पीछे हटने को तैयार नहीं है और अपना आंदोलन जारी रखे हैं |

 

  •  इस आंदोलन के दौरान कई बार तो किसानों और पुलिस के बीच भी झड़प हो चुकी है रेवाड़ी अलवर सीमा पर सैकड़ों प्रदर्शनकारी कृषि कानूनों के खिलाफ मुख्य आंदोलन में शामिल होने के लिए दिल्ली मार्च कर रहे थे और इस पर पुलिस वालों ने रोक लगाने की कोशिश की लेकिन इसी बीच पुलिस और किसानों के बीच झड़प होने की नौबत तक आ गई थी |
  • 4 जनवरी 2021 को किसान और सरकार के बीच फिर से बातचीत होने जा रही है अब लग रहा है कि किसान और सरकार के बीच अबकी बार तो बात बन जाएगी लेकिन देखते हैं किसान और सरकार के बीच यह बात बनती है या बिगड़ती है लेकिन किसान का यही कहना है कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं की जाएंगी तब तक आंदोलन चलता रहेगा और वहीं दूसरी तरफ सरकार का कहना है कि जो भी निर्णय लिया जाएगा वह किसान हित में लिया जाएगा |

Other Big Latest News – Coronavirus New Strain 2021 : भारत देश में 4 मरीज और मिले अब हो गई भारत में मरीजों की संख्या 29

Big Update –KalyugTime