Kisan Andolan 2020 :- Farmer Protest के 22 दिन पूरे हो गए, किसान और सरकार के बीच नहीं हुआ समझौता

Kisan Andolan 2020 :-Farmer Protest के 22 दिन पूरे हो गए, किसान और सरकार के बीच नहीं हुआ समझौता

 

Kisan Andolan 2020:-

Kisan Andolan लगातार चल रहा है, और देखते-देखते 22 दिन बीत चुके हैं सरकार को किसानों के बीच तकरार लगातार जारी है. पूरे देश महामारी बढ़ रही है और दूसरी तरफ सर्दियों का मौसम भी बढ़ रहा है फिर भी किसान रुकने को नहीं है और सरकार झुकने को नहीं है लगातार किसानों और सरकार के बीच समझौते की बातचीत होती है

लेकिन किसी न किसी कारण से वह समझौता रद्द हो जाता है जो कृषि कानून बनाए गए हैं उनके खिलाफ यहां प्रदर्शन चल रहा है और वह कृषि कानून किसानों को बिल्कुल पसंद नहीं है, किसान लगातार यही कह रहे हैं जल्दी से जल्दी कृषि कानूनों को वापस ले लिया जाए |

Kisan Andolan 2020:-Farmer Protest
Kisan Andolan 2020:-Farmer Protest के 22 दिन पूरे हो गए, किसान और सरकार के बीच नहीं हुआ समझौता Kisan Andolan 2020:-

Kisan Andolan 2020:-

किसानों में दिल्ली के बॉर्डर को घर के रखा है पूरा रास्ता बंद करके रखा है और वह किसान 26 नवंबर से दिल्ली के बॉर्डर पर डटे हुए हैं, क्या किसान सिंधु , टिकरी पलवल, गाजीपुर, और बहुत स्थानों पर किसान सीना तान कर बैठे हुए हैं और उन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं और लगातार अपना प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन पता नहीं सरकार उन कृषि कानूनों को वापस क्यों नहीं ले रही |

सुप्रीम कोर्ट ने भी जवाब दे दिया है और नोटिस भी भेज दिया है, प्रत्येक दिन किसी न किसी तरीके से किसानों और सरकार के बीच वार्तालाप होता है जैसे कि आज इस मुद्दे पर एक बार फिर सुनवाई होगी डीएमके नेता रुचि सेवा, आरजेडी के मनोज झा और छत्तीसगढ़ कांग्रेस के राकेश वैष्णव की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई करेगी इन सभी की मांग है कि कृषि कानूनों को रद्द किया जाए.

इससे पहले बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने किसानों के आंदोलन को लेकर सुनवाई हुई थी, सुप्रीम कोर्ट द्वारा तो यही कहा गया है कि जल्द से जल्द सरकार और किसानों के बीच समझौता हो जाए |

सुप्रीम कोर्ट के द्वारा यही कहा गया है कि जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान किया जाए वरना यह मुद्दा बहुत बड़ा बन सकता है |

Kisan Andolan 2020:-

किसानों और सरकार के बीच ना जाने कितनी बार बातचीत हो चुकी है लेकिन इस बातचीत के दौरान किसी भी प्रकार का कोई समाधान नहीं हुआ है, और अब तक कोई निष्कर्ष नहीं निकल सका है सरकार जहां कृषि कानून में संशोधन की बात कर रही है वही किसान कानून को रद्द करने की अपनी मांग पर अड़े हुए हैं सरकार के साथ कई दौर की बातचीत से कोई हल नहीं हुआ है किसानों ने सरकार को अपने आंदोलन को और तेज करने की चेतावनी भी दी है |

किसानों ने सीधा सीधा बोल दिया है कि जब तक हमारी  मांगे पूरी नहीं की जाएंगी तब तक हमारा यह आंदोलन और चलता रहेगा जल्द से जल्द कृषि कानूनों को वापस लिया जाए वरना हम अपने इस Kisan Andolan को और ज्यादा तेज कर देंगे |

Kisan Andolan 2020:-

सरकार के द्वारा बहुत बार किसानों से बातचीत हो चुकी है लेकिन किसान पीछे हटने को तैयार नहीं है सरकार बार-बार यही कहती है कि हम इन कृषि कानूनों में संशोधन करेंगे लेकिन किसानों का वहीं दूसरी तरफ यही कहना है कि मैं संशोधन नहीं इन कृषि कानूनों को वापस लिया जाए बस किसान अपनी बात पर अड़े हुए हैं और पीछे हटने को तैयार नहीं है किसान तीनों कृषि कानूनों को वापस किए जाने पर मांग पर अड़े हुए हैं |

किसानों ने सीधा कह दिया है कि हमें सिर्फ हां और ना में उत्तर चाहिए|

इस प्रकार से लग रहा है कि यह मामला सुलझ  नहीं रहा बल्कि उलझ रहा है |

बहुत लोग किसानों का साथ दे रहे हैं वहीं दूसरी तरफ सरकार का भी बहुत लोग साथ दे रहे हैं इस कारण से कोई भी पीछे हटने को तैयार नहीं है |

Other Big News-

Farmers Protest Top-10 Big News , Kisan andolan Latest News & Big Update SC ने हरियाणा और पंजाब को जारी किया नोटिस

Tech Jankari-Kalyug Time