Subhash Chandra Bose Day 2021 : Top-10 Quotes ,Wishes, Whatsapp Status, Facebook Greetings

Subhash Chandra Bose Day 2021 : Top-10 Quotes ,Wishes, Whatsapp Status, Facebook Greetings

Subhash Chandra Boss Day 2021 : Top-10 Quotes ,Wishes, Whatsapp Status, Facebook Greetings
Subhash Chandra Boss Day 2021 : Top-10 Quotes ,Wishes, Whatsapp Status, Facebook Greetings

Subhash Chandra Boss Day 2021:- यह जयंती 2021 में बड़े धूमधाम से मनाई जा रही है इसके अलावा हर साल की यह जयंती बड़ी धूमधाम से मनाई जाती है यह सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती है

सभी लोगों को यह पता होगा कि देश के स्वाधीनता आंदोलन के हीरो में से एक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को केंद्र सरकार ने पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है |

सुभाष चंद्र बॉस का एक ही नारा था तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा  उनके इस एक नारे ने ऐसा कुछ कर दिया कि आज पूरा देश उन्हें याद करता है |

सुभाष चंद्र बोस अपने नारों से ही लोगों के अंदर जोश और ऊर्जा पैदा कर देते थे |

सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 18 सो 97 को हुआ था इनका जन्म उड़ीसा के कटक शहर में हुआ था सुभाष चंद्र बोस की जीवनी और कठोर त्याग आज के देश के युवाओं के लिए प्रेरणादायक है |

सुभाष चंद्र बोस का एक नारा जय हिंद का नारा जो कि भारत का राष्ट्रीय नारा बन गया सुभाष चंद्र बोस के द्वारा सिंगापुर के टाउन हॉल के सामने सुप्रीम कमांडर के रूप में सेना को संबोधित करते हुए दिल्ली चलो का नारा बोल दिया था |

इन्हीं सुभाष चंद्र बोस ने गांधी जी को राष्ट्रपिता कह कर संबोधित किया था  जलियांवाला बाग कांड ने उन्हें इस तरीके से उत्साहित कर दिया कि इस देश के खातिर आजादी के लिए मैदान में कूद पड़े |

उन्होंने अपने जीवन में ऐसे ऐसे कार्य किए कि हर कार्य की यादगार कार्य बन गया और वह कार्य हर व्यक्ति को प्रेरणा भी देता है |

Subhash Chandra Bose Day 2021

  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस अपने परिवार में नौवें नंबर के बच्चे थे |
  •  नेताजी सुभाष चंद्र बोस बचपन से ही देश प्रेमी थे और हमेशा अच्छा कार्य करने के लिए तत्पर तैयार रहते थे
  •  आजादी की लड़ाई के लिए उन्होंने देश हित में नारे लगाए
  •  देश की आजादी की लड़ाई के लिए सुभाष चंद्र बोस ने भारतीय सिविल सेवा की नौकरी भी ठुकरा दी थी
  •  इस परीक्षा में उनकी रैंक औरत नंबर पर आई थी जिसे देखकर और सुनकर हर कोई दंग रह गया क्योंकि उनके अंदर राष्ट्रप्रेम की भावना थी इसीलिए उन्होंने इस नौकरी को ठोकर मार दी
  •  जलियांवाला हत्याकांड में कुछ ऐसा हुआ कि सुभाष चंद्र बोस अपने देश की रक्षा करने के लिए आजादी की लड़ाई में कूद पड़े
  •  सुभाष चंद्र बोस जिस कॉलेज में पढ़ते थे उस कॉलेज में भेदभाव किया जाता था और उस कॉलेज में एक अंग्रेजी मैडम का विरोध किया लेकिन सुभाष चंद्र बोस को उस कॉलेज से निकाल दिया गया
  •  सुभाष चंद्र बोस 1921 से 1941 के बीच नेताजी को लगभग 11 अलग-अलग जेलों में रखा गया
  •  1941 में तो सभी हद पार हो गई क्योंकि सुभाष चंद्र बोस को एक घर में नजरबंद करके रखा गया ताकि किसी भी व्यक्ति को कोई भी जानकारी ना मिल सके
  •  लेकिन किस्मत में तो कुछ और ही था सुभाष चंद्र बोस को एक घर में बंदी बनाकर जरूर रखा लेकिन वहां से नेताजी भाग निकले और ट्रेन से पेशावर के लिए रवाना हो गए और रवाना होकर बे काबुल पहुंच गए और काबुल से जर्मनी पहुंच गए वहां पर उनकी मुलाकात एडोल्फ हिटलर से हो गई
  •  सन 1943 में बर्लिन में रहते हुए नेताजी ने आजाद हिंद रेडियो और श्री इंडिया सेंटर की स्थापना कर दी

सुभाष चंद्र बोस के विचार महात्मा गांधी से बिल्कुल नहीं मिलते थे महात्मा गांधी से बिल्कुल विपरीत थे नेताजी सुभाष चंद्र बोस का यह कहना था कि अगर हमारे देश को आजादी चाहिए तो इन अंग्रेजों को भारत देश से निकाल फेंकना होगा |

Subhash Chandra Bose Day 2021,Subhash Chandra Bose Day 2021,Subhash Chandra Bose Day 2021,Subhash Chandra Bose Day 2021,Subhash Chandra Bose Day 2021