Who is Sachin Vaze : Mumbai Police ‘encounter specialist’ arrested by NIA

Who is Sachin Vaze : Mumbai Police ‘encounter specialist’ arrested by NIA

Who is Sachin Vaze  Mumbai Police ‘encounter specialist’ arrested by NIA
Who is Sachin Vaze Mumbai Police ‘encounter specialist’ arrested by NIA

Sachin Vaze : सचिन बाजी को 13 मार्च अर्थात शनिवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा गिरफ्तार किया गया लेकिन बहुत लोग यह सोच रहे होंगे कि आखिरकार गिरफ्तार क्यों किया गया है क्योंकि उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित एंटीलिया के बाहर कुछ ऐसी घटना हुई जिसे जानकर सभी लोग हैरान हैं 25 फरवरी को जो बम विस्फोटक पदार्थ की जो जांच हुई उसके कारण सचिन बाजे की लिंक मिली जिसके कारण NIA के द्वारा गिरफ्तार किया गया है और सचिन बजे को NIA के द्वारा 25 मार्च तक हिरासत में रिमांड पर लिया गया है |

Why was he arrested by the NIA?

इस बारे में अभी तक पूर्ण रूप से जानकारी नहीं मिली है लेकिन जिस तरह से राष्ट्रीय जांच एजेंसी के द्वारा गिरफ्तार किए गए हैं तो कोई ना कोई तो ऐसा बड़ा कारण होगा जिसके कारण गिरफ्तार किया गया है |
लेकिन NIA ने उस पर साजिश, आपराधिक धमकी, विस्फोटकों, जालसाजी से निपटने में लापरवाही बरतने और से संबंधित धाराओं के तहत आरोप लगाया है। और इसकी पूर्ण रूप से जांच होने के बाद ही सब कुछ पता चलेगा फिलहाल राष्ट्रीय जांच एजेंसी के हिरासत में है सचिन बाजे |

Who is Sachin Vaze?

Sachin Vaze मुंबई पुलिस का एक सहायक पुलिस निरीक्षक है। वह प्रदीप शर्मा और दया नाइक के साथ मुंबई के तथाकथित “मुठभेड़ विशेषज्ञों” के मूल समूह में से एक था। वह 16 साल के अंतराल के बाद 2020 में बल में वापस आ गया, जिसके लिए वह निलंबित था, जिसके बाद उसने बल छोड़ दिया।

Sachin Vaze जन्म 22 फरवरी 1972) भारत के महाराष्ट्र पुलिस बल के एक पुलिस अधिकारी हैं। वेज़ को मुंबई एनकाउंटर स्क्वाड के साथ एक “मुठभेड़ विशेषज्ञ” के रूप में जाना जाता है और 63 कथित अपराधियों के रूप में कई की मौत के साथ शामिल था। 1990 में वेज महाराष्ट्र पुलिस बल में शामिल हो गए। ख्वाजा यूनुस की हिरासत में मौत के बाद उन्हें 17 साल के लिए निलंबित कर दिया गया था,

लेकिन उन्हें जमानत दे दी गई और बाद में जून 2020 में बहाल कर दिया गया। उन्होंने प्रधान संपादक को गिरफ्तार करने के लिए रायगढ़ पुलिस टीम का नेतृत्व किया। रिपब्लिक टीवी, अर्नब गोस्वामी, वास्तुकार अन्वय नाइक की मौत के मामले में और अपराध शाखा अधिकारी के रूप में टेलीविजन रेटिंग अंक हेरफेर मामले की जांच कर रहा था।

Mukesh Ambani bomb scare case

25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास [26] के बाहर जिलेटिन की छड़ें से भरे स्कॉर्पियो एसयूवी वाहन को रखा गया था। कार के मालिक मनसुख हिरेन, जिन्होंने एसयूवी चोरी होने की पुलिस शिकायत दर्ज की थी, बाद में 5 मार्च, 2021 [27] को मृत पाए गए। महाराष्ट्र के विपक्ष के नेता, देवेंद्र फड़नवीस ने मनसुख हिरेन की कथित हत्या के लिए सचिन वज़े को गिरफ्तार करने की मांग की [28]। फडणवीस ने दावा किया कि मनसुख हिरेन की पत्नी को शक है कि सचिन वेज़ ने उनके पति [29] की हत्या कर दी। इस प्रकार से पत्नी के द्वारा शक जताया गया और फिर जो जांच एजेंसी थी उस जांच एजेंसी के द्वारा तुरंत Sachin Vaze को गिरफ्तार किया गया |

विजी ने अंतरिम राहत के लिए आवेदन किया, जिसे ठाणे में सत्र अदालत ने खारिज कर दिया। उन्हें 12 घंटे से अधिक पूछताछ के बाद 13 मार्च को राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने गिरफ्तार कर लिया

बताया जा रहा है कि अभी तक राष्ट्रीय जांच एजेंसी को कई प्रकार की जानकारी मिल चुकी है जो जानकारी Sachin Vaze द्वारा दी गई है |
मुकेश अंबानी विश्व के उद्योगपतियों में से एक हैं और उनके साथ इस प्रकार की घटना होने के बाद जांच एजेंसी बहुत बड़े एक्शन में आ गई और पूरी तरह जांच पड़ताल करने में लग गई |

Radhe Movies Release Date 2021

Best Tech Jankari